Khushiyan - Connecting Helping Hands
MENU

Tagged as: Diwali

Khushiyan Volunteers Team

“खुशियाँ” दीवाली मेला – एक यादगार आयोजन

“घर से मस्जिद है बहुत दूर, चलो यूँ कर लें । किसी रोते हुए बच्चे को हँसाया जाए ।।” निदा फ़ाज़ली साहब का ये शेर तब मूर्तिमान होता सा लगा जब ‘खुशियाँ’ द्वारा आयोजित दीवाली मेले में सभी को इतने उत्साह और उमंग से बच्चों के लिए कार्य करते देखा।

Read More